Direct Selling क्या हैं और इसका भविष्य | Direct Selling Diploma Fees

अगर आप भी एक Direct Selling इंडस्ट्री के बारे में जानना चाहते या फिर इसमें कैरिएर बनाना चाहते है तो आज  के इस लेख में हम आपको बताएगे आखिर Direct Selling क्या होता है और Direct Selling Ka Future kya hai, Direct Selling Diploma Fees जैसे डायरेक्ट सेलिंग से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी जानेगे ।

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि डायरेक्ट सेलिंग एक बिज़नेस का ही हिस्सा होता है । जिसके जरिये सेलर और उपभोक्ता दोनों को काफी फायदा होता हैं और साथ ही उपभोक्ता का पैसा भी बचता हैं । डायरेक्ट सेलिंग भविष्य में काफी तेज़ी से ग्रोव्व करने वाला बिज़नेस भी बन सकता हैं ।

direct selling ka future kya hai direct selling diploma fees

अगर आप ये सोच रहे है कि हम डायरेक्ट सेलिंग का बिज़नेस करे या नहीं तो इस लेख को अंत तक जरुर पढ़े क्यूंकि इसमें हमने डायरेक्ट सेलिंग का फ्यूचर और अन्य जरुरी जानकारी बताई हैं ताकि आप अपना कदम डायरेक्ट सेलिंग में सोच समझकर कर ही रखे ।

Advertisements

चलिए अब ज्यादा देर न करते हुए डायरेक्ट सेलिंग क्या है, डायरेक्ट सेलिंग  का भविष्य क्या हैं, डायरेक्ट सेलिंग के फायदे आदि  के बारे जानते हैं ।

Direct Selling kya hai? (What is Direct Selling)

Direct Selling का मतलब इसके नाम से ही पता चलता है, जिसमे डायरेक्ट का मतलब सीधा और सेलिंग का मतलब बेचने या बिक्री से हैं । इस तरह डायरेक्ट सेलिंग का अर्थ हैं सीधे बेचना या सीधे बिक्री करना ।

दोस्तों, जब भी हम कोई सामान या वस्तु खरीदते है तो उसे अपने पास की किसी भी दूकान से ले लेते हैं, लेकिन इसमें उस वस्तु को हमारे घर तक आने के लिए एक लम्बी प्रोसेस से होकर गुजरना होता हैं- जैसे कि सबसे पहले वस्तु Manufacturer, Distributor, Wholesaler, Retailer से होते हुए हम लोगो के पास पहुंचता हैं ।

लेकिन डायरेक्ट सेलिंग में ऐसा चैन होता हैं, जिसमे कंपनी की चीज़ डायरेक्ट डिस्ट्रीब्यूटर से कस्टमर तक पहुँचती हैं और इसमें कंपनी को कोई खास Advertising भी नहीं करनी पड़ती हैं । अगर Distributor चाहे तो वो अपने किसी कस्टमर को भी डिस्ट्रीब्यूटर बना सकते हैं और इस तरह ये चैन की तरह काम करता है और इसे डायरेक्ट सेलिंग के साथ-साथ नेटवर्क मार्केटिंग भी कहते हैं ।

Direct Selling के प्रकार (Types of Direct Selling)

डायरेक्ट सेलिंग के दो मुख्य प्रकार होते हैं पहला MLM ( Multi Level Marketing) और दूसरा SLM ( Single – Level Marketing जिनके बारे में नीचे विस्तार से बताया है |

MLM (Multi Level Marketing)

Direct selling का एक भाग Multi Level Marketing (MLM) होता हैं और इसमें कंपनी नियम और रणनीति तैयार करके अपने सामान को बेचने के लिए ग्राहकों के लिए प्रस्तुत करती है और ग्राहक के साथ प्रोडक्ट से सम्बंधित डील भी करती हैं । इसमें बेचने वाले को कंपनी कमीशन देती हैं ।

इसमें ग्राहक कंपनी के प्रोडक्ट को लेकर कांटेक्ट ज्वाइन करता है तो यदि जिसके बाद वो ग्राहक उस कंपनी  के प्रोडक्ट को दुसरे लोगो को बेचता है तो उसके पहले ग्राहक (डिस्ट्रीब्यूटर) को कमीशन मिलता है और ये एक कमीशन की चैन की तरह काम करता हैं ।

इसमें सभी डिस्ट्रीब्यूटर को चैन के माध्यम से बिक्री का कमीशन मिलता है और इसमें कमीशन के कई लेवल होते हैं, इसलिए इसे Multi  Level Marketing के नाम से जाना जाता है । 

SLM (Single Level Marketing)

Direct selling का दूसरा भाग है Single  Level Marketing (SLM) होता हैं  और इसमें सभी सेल्स रिप्रेजेंटेटिव, अपने कमीशन का एक पर्सनल हिस्सा लेते हैं । इसमें आपको किसी नेटवर्क चैन के रूप में या ग्रुप से कमीशन नहीं मिलता हैं यानि इसमें आप कोई भी एक टीम का सेल नेटवर्क नहीं बना सकते हैं ।

Direct Selling का Future क्या हैं (Future of Direct Selling in India)

दुनिया में डायरेक्ट मार्केटिंग के भविष्य (future) की बात करे इसका अनुमान आप इस बात से लगा सकते है कि इस समय  दुनिया में 120 मिलियन के लगभग लोग डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री मे काम करते है । इस बात का पता डब्ल्यू.एफ.डी.एस.ए. (World Federation of Direct Selling Association ) 2019-20 की जारी रिपोर्ट से पता चलता हैं।  

इसके साथ ही 15 Million से भी ज्यादा लोग Direct Selling को अपने  बिज़नेस करियर के रूप में देख रहे हैं जोकि डायरेक्ट सेलिंग के फ्यूचर के लिए काफी अच्छी बात मानी जा सकती हैं । पूरी दुनिया में करीबन 70 Million लोग ऐसे भी है जोकि नेटवर्क मार्किटिंग बिज़नेस केवल उन कंपनी के प्रोडक्ट को लेने लिए ज्वाइन होते हैं यानि इसमें Inactive लोग भाग लेते हैं |

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि डायरेक्ट सेलिंग में 45 Million से भी ज्यादा लोग Direct Selling या Network Marketing Business में पार्ट टाइम के तौर पर काम करते है और कुछ लोगो इसे अपने जॉब के साथ  बिज़नेस के रूप में मैनेज करते हैं।

डायरेक्ट सेलिंग बिज़नेस या नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस की खास बात ये हैं कि इसमें 75% माहिलाएं और 25% पुरुष काम करते हैं यानि इस बिज़नेस में महिलाए और पुरुष दोनों आसानी से ज्वाइन कर सकते हैं ।

अगर डायरेक्ट सेल्लिंग के भविष्य की बात करे तो FICCI की एक रिपोर्ट के हिसाब से 2025 तक डायरेक्ट सेलिंग  की मार्किट 64000 करोड़ तक पहुँच जाएगी और वही भारत में डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री 2025 तक लगभग 2 करोड़ हो जाएगी । इसी तह आप Direct Selling Future का अंदाजा लगा सकते है कि इसका भविष्य कैसे रहने वाला हैं  ।

Direct Selling कैसे करते है ? (How to do Direct Selling in Hindi)

अगर आप किसी जॉब की तलाश में है या फिर नौकरी के साथ पार्ट टाइम काम शुरू करना कहते है तो आप डायरेक्ट सेलिंग के बिज़नेस में कदम रख सकते हैं ।

इसके लिए आपको किसी खास ट्रेनिंग की जरुरत नहीं होती है और इसके लिए कोई Required Skills की भी जरूरत नहीं हैं, बस इसके लिए डायरेक्ट सेलिंग कंपनी आपको कुछ ट्रेडिंग देगी यानि इसमें आपको एक अच्छी-सी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी के साथ जुड़ना होगा ।

भारत की कुछ डायरेक्ट सेलिंग कंपनी (Direct selling company in india)

दुनिया में बहुत-सी डायरेक्ट सेल्लिंग कंपनी हैं, इनके जरिये आप अपने एक डायरेक्ट सेलिंग बिज़नेस को शुरू कर सकते हैं । हमने नीचे कुछ बेहतरीन Company की list दी है, जिनसे जुड़कर आप डायरेक्ट सेलिंग में अपना करियर बना सकते है ।

  • 1. Oriflame
  • 2. Herbalife
  • 3. Amway
  • 4. Modicare
  • 5. Vestige
  • 6. Forever Living
  • 7. DXN India
  • 8. RCM

Direct Selling Diploma Fees कितनी हैं और कहाँ से करे ?

अगर आप डायरेक्ट सेलिंग में डिप्लोमा करने की सोच रहे है तो आपको इसकी फीस भी पता होनी चाहिए वैसे तो आप डायरेक्ट सेलिंग का काम बिना किसी कोर्स के भी कर सकते हैं, लेकिन डिप्लोमा करने से आपकी वैल्यू अधिक बढ़ जाएगी और डायरेक्ट सेलिंग के डिप्लोमा कोर्स के लिए आपके 1 से 1.5 लाख के करीब पैसे लग सकते हैं ।

इस समय भारत में डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस को बढावा देने के लिए पहला पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स तैयार किया गया है और जिसकी फीस की बात करे तो लगभग  1 लाख रूपये हैं जोकि कुछ समय पहले करीबन 1.5 रूपये हुआ करती थी ।

इस कोर्स को शूलिनी यूनिवर्सिटी और आईडीएसए दोनों के द्वारा संयुक्त रूप से तैयार किया गया है, जिसमें उद्योग से संबंधित दिशा-निर्देश, उद्योग को नियंत्रित करने के नियम आदि की जानकारी दी जाएगी। यह भारत के सत्र 2021-22 से शुरू होगा, जिसमें एक साल का पीजी डिप्लोमा होगा।

डायरेक्ट सेलिंग के फायदे।

डायरेक्ट सेलिंग में सबसे मुख्य MLM है और हम आपको डायरेक्ट सेलिंग के MLM कुछ फायदे बताते है जोकि निन्मलिखित हैं ।

नया कौशल (Grow Skill)

डायरेक्ट सेलिंग का काम इतना आसान बिज़नेस भी नहीं हैं क्यूंकि इसमें शुरू में काफी मेहनत करनी पड़ती है और बहुत-से लोगो के पास जाकर अपने सेलिंग प्रोडक्ट के प्रकार यानि फायदे बताने होते है । इससे डायरेक्ट सेलिंग कंपनी के उन प्रोडक्ट को लोगो को ज्वाइन करवाना होता है जिससे कि आपका एक नया कौशल जैसे  मार्केटिंग, प्रेजेंटेशन आदि उभर कर आता हैं ।

आत्मविश्वास बढ़ना

आपको हमे बताया MLM डायरेक्ट सेलिंग का काम काफी मेहनत का होता है और अधिकतर लोग तो आपके बताये प्रोडक्ट की और आकर्षित भी नहीं होते है, जिसके कारण आपको बार-बार रिजेक्शन ही मिलते है और जिससे की  अधिकतर इस बिज़नेस को शुरू करने वाले लोग निराश होकर काम छोड़ देते हैं । लेकिन जो इस काम में लगे रहते  है और सफलता प्राप्त कर लेते है, उसमे काफी आत्मविश्वास बढ़ जाता है जोकि की आपके जीवन का एक अहम् पहलु होता हैं ।

विशेष मापदंड की आवश्यता नहीं

डायरेक्ट सेलिंग के इस MLM काम के लिए आपको किसी विशेष उम्र, डिग्री, लिंग, धर्म, जाति आदि जरूरत नहीं है और ये काम कोई भी व्यक्ति शुरू कर सकता है, बस आपको डायरेक्ट सेलिंग कंपनी को ज्वाइन होना होता हैं |

प्रोडक्ट की कीमत

डायरेक्ट सेलिंग से एक फायदा ये भी होता है कि कंपनी के प्रॉडक्ट कम कीमत पर मिल जाते है यानि अगर कोई डायरेक्ट सेलिंग के तौर पर किसी कंपनी से जुड़ता है तो उस कंपनी के प्रोडक्ट MRP से कम कीमत पर मिल जाते हैं ।

FAQs: Direct Selling पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

Q.1 डायरेक्ट सेलिंग का उदाहरण क्या है?

Ans: इस समय दुनिया में बहुत सारी डायरेक्ट selling कंपनी है जैसे Amway, Modicare, Forever Living product आदि और लोग इन कंपनी को ज्वाइन करके इनके प्रोडक्ट को सीधे कंपनी से खरीद सकते हैं ।

Q.2 भारत में Direct Selling कब आया ?

Ans: भारत में डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत सन 1995 हुई ।

Q.3 भारत में Direct Selling का भविष्य क्या है ?

Ans: FICCI  की रिपोर्ट के अनुसार 2025 तक डायरेक्ट सेलिंग मार्किट 64000 करोड़ को पार पहुँच जाएगी और इसका भारत में भी काफी असर पड़ेगा, जिसकी पूरी जानकारी इस लेख में जाने ।

ये भी पढ़े:

निष्कर्ष:

उम्मीद है अब आप Direct Selling Ka Future Kya hai और Direct Selling Diploma Fees लेख को पढ़कर अच्छे से जान गए होगे कि आखिरकार डायरेक्ट सेलिंग क्या होता है और इसका भविष्य क्या होने वाला हैं और साथ ही आपको डायरेक्ट सेलिंग के फायदे भी पता चल गए होगे ।

अगर इसके बाद भी आपके मन में इस लेख से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप हम से कमेंट करके पूछ सकते हैं और यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे ।

Leave a Comment